रायगढ़

चक्रधरनगर पुलिस की गिरफ्त में गुम हुई महिला का हत्यारा….
चक्रधरनगर के मांझापारा में शव उत्खनन पर मिला था गुम महिला की लाश…
लिव-इन रिलेशन में साथ रहने वाला महिला का कथित पति घटना के बाद से था फरार….
फरार संदेही को हिरासत में लेने जशपुर के कई स्थानों में दबिश दी रायगढ़ पुलिस की टीम….
कुनकुरी थाना क्षेत्र से हिरासत में लेकर लाया गया थाने, संदेही किया हत्या की पुष्टि….
महिला को गैर मर्द के साथ देखकर मारपीट कर सिर को सीमेंट फर्श पर पटक-पटककर किया हत्या….
घर के बाड़ी में शव को दफन कर हुआ था फरार, शव दफन में प्रयुक्त रापा जप्त…

राजेश चौहान रायगढ़ । एसपी श्री अभिषेक मीना के मार्गदर्शन पर चक्रधरनगर पुलिस द्वारा दो दिन पहले मांझापारा बड़े अतरमुड़ा में उत्खन्न पर मिले गुम महिला कांति बाई यादव (37 साल) के शव मामले में दिनांक 18.09.2022 को हत्या का अपराध पंजीबद्ध कर आरोपी खगेश्वर राम यादव उर्फ अजय यादव (41 साल) को जशपुर जिले के कुनकुरी थानाक्षेत्र में दबिश देकर पकड़ा गया है । पुलिस का प्रथम संदेह खगेश्वर राम यादव उर्फ अजय यादव पर था जो पुलिस की जांच कार्रवाई के समय से लुक-छिप रहा था ।

                जानकारी के मुताबिक दिनांक 16/09/2022 के शाम श्रीमती डिलेश्वरी यादव पति भुनेश्वर यादव उम्र 44 वर्ष निवासी ग्राम भातुडांड पत्थलगांव, जशपुर द्वारा थाना चक्रधरनगर आकर उसकी छोटी बहन कांति बाई यादव पति अजय यादव उम्र 37 वर्ष निवासी मांझापारा बड़े अतरमुड़ा थाना चक्रधरनगर के गुम होने की रिपोर्ट दर्ज कराया गया । श्रीमती डिलेश्वरी यादव बताई कि उसकी छोटी बहन कांति बाई  का विवाह काफी पहले ग्राम कंडोरा में किये थे । उसके विवाहित पति से उसे 2 लड़का, 1 लड़की  है । कांति बाई का उसके पति से झगड़ा विवाद होने पर कुनकुरी लोटापानी के रहने वाले खगेश्वर उर्फ अजय यादव के साथ प्रेम विवाह कर रहने लगी और काफी दिनों से दोनों रायगढ मांझापारा बड़े अतरमुड़ा में घर बना लिए थे । कांति मोबाइल पर बताती थी कि उसका अजय के साथ भी झगड़ा होता था । दिनांक  01.09.2022 से कांति का मोबाइल बंद बता रहा है , उसका घर भी बंद है । मामले में गुम इंसान क्रमांक 76/2022 दर्ज कर गुम इंसान कांति, उसके पति अजय का मोबाइल नम्बर लेकर जांच में लिया गया ।

                              रिपोर्टकर्ता श्रीमती डिलेश्वरी यादव दिनांक 18.09.2022 को सूचना दिया गया कि कांति के घर का एक चाबी उसके पास था । दिनांक 16.09.2022 को रायगढ आई और कांति के घर गई तो ताला लगा था तो रिस्तेदार के घर चली गई  थी । दिनांक 18.09.2022 को कांति के घर जाकर ताला खोलकर देखी तो घर की बाड़ी में मिट्टी के बाहर एक महिला के पैर की उंगली एवं खोपड़ी दिखाई दे रहा है । सूचना पर तत्काल सीएसपी दीपक मिश्रा, थाना प्रभारी चक्रधरनगर निरीक्षक शनिप रात्रे अपने स्टाफ के साथ मौके पर पहुंचे । शव का  विधिवत कार्यपालिक दण्डाधिकारी की उपस्थिति में उत्खनन कराया गया । शव की पहचान श्रीमती डिलेश्वरी यादव  द्वारा उसकी बहन कांति यादव के रूप में की । शव को पी.एम के लिये भेजा गया । गुम इंसान जांच में प्रथम दृष्टिया मृतिका की हत्या कर शव को गड्ढे में दफन उसके पति खगेश्वर उर्फ अजय यादव के द्वारा किये जाने का संदेह होने पर प्रार्थिया श्रीमती डिलेश्वरी यादव की रिपोर्ट पर दिनांक 18.09.2022 को संदेही खगेश्वर उर्फ अजय यादव के विरूद्ध धारा  302, 201 भादवि  का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया ।

                 संदेही खगेश्वर उर्फ अजय यादव फरार था, जिसे शीघ्र हिरासत में लेने पुलिस अधीक्षक श्री अभिषेक मीना द्वारा सीएसपी दीपक मिश्रा को निर्देशित किये । सीएसपी  दीपक मिश्रा के मार्गदर्शन पर थाना चक्रधरनगर एवं लैलूंगा की संयुक्त टीम संदेही खगेश्वर उर्फ अजय यादव के लुकने –छिपने के स्थान लैलूंगा, जशपुर पर दबिश दिया गया,  इसी दरम्यान संदेही के ग्राम लोटापानी में छिपे होने की सूचना पर रायगढ़ पुलिस टीम द्वारा सुनियोजित तरीके से थाना कुनकुरी स्टाफ के सहयोग से ग्राम लोटापानी में दबिश देकर संदेही खगेश्वर उर्फ अजय यादव को हिरासत में लेकर थाना लाया गया । संदेही खगेश्वर उर्फ अजय यादव द्वारा उसकी पत्नी कांति की हत्या कर शव को दफन कर भाग जाना कबूल कर घटना का वृतांत बताया ।

                आरोपी खगेश्वर राम यादव उर्फ अजय यादव उम्र 41 वर्ष निवासी मांझापारा बड़े अतरमुड़ा मूल निवासी ग्राम लोटापानी थाना कुनकुनी जिला जशपुर बताया कि करीब 12-13 वर्ष से रायगढ़ में किराए मकान पर रहकर वाहन चलाने का काम करता है । 3 वर्ष पहले मांझापारा में स्वयं का मकान बना लिया है । खगेश्वर बताया कि वह कांति यादव से प्रेम विवाह कर उसे पत्नी बनाकर रखा था । कांति के गैर व्यक्तियों से मिलना-जुलना बातें करना उसे पसंद नहीं था जिसे लेकर कई बार दोनों में झगड़ा हुआ था और कांति को दूसरे व्यक्तियों मेल जोल रखने सख्त मना किया था । घटना के 3 दिन पहले अकेले अपने गांव लोटापानी, कुनकुरी गया जहां से लौटा तो घर का दरवाजा अंदर से बंद था । दीवार फांद कर अंदर जाकर देखा तो कांति किसी दूसरे व्यक्ति के साथ थी गुस्से में कांति को थप्पड़ मारा, उसके साथ वाला व्यक्ति वहां से भाग गया फिर गुस्से में कांति को हाथ मुक्कों से मारपीट कर उसके सिर को दीवाल से टकराया उसका सिर सीमेंट फर्श पर गिरा, वो बेहोश होकर गिर पड़ी । तब घर से चला गया । दूसरे दिन सुबह आकर देखा तो कांति मरी पड़ी थी, डर से घर का दरवाजा बाहर से बंद कर बस स्टैंड और कई जगह बाहर-बाहर घूमता रहा । 3 दिन बाद वापस घर जाकर रात के समय कांति के शव को बाड़ी में राता से गड्ढा खोदकर लाश को दफन कर राता को मकान में छिपा कर कपड़े बदल कर फिर से गांव लोटापानी भाग गया । पुलिस की खोजबीन की सूचना पाकर लुक छिप रहा था । पुलिस द्वारा आरोपी खगेश्वर राम यादव उर्फ अजय यादव के मेमोरेंडम पर गड्ढा खोदने में प्रयुक्त रापा को आरोपी की निशानदेही पर घर से जप्त किया गया है । एडिशनल एसपी लखन पटले तथा सीएससी दीपक मिश्रा के मार्गदर्शन एवं सतत सुपरविजन पर संपूर्ण कार्यवाही में थाना प्रभारी चक्रधरनगर शनिप रात्रे, उप निरीक्षक दिनेश बोहिदार, प्रधान आरक्षक हेम प्रकाश सोन, सतीश पाठक, लोमश राजपूत, राजश्री वैष्णव, आरक्षक चंद्र कुमार बंजारे, विक्कू सिंह ठाकुर, शैलेंद्र पैकरा, नवीन शुक्ला, सुशील यादव, महिला आरक्षक कस्तुरी राठिया की अहम भूमिका रही है ।

Kailash Nayak

(डिप्लोमा इन जर्नलिज्म एंड मॉस कम्यूनिकेशन)

Leave a Reply

Your email address will not be published.