Uncategorized

पालक दे शासकीय स्कूलों पर ध्यान- गणेश राम पटेल

शासकीय प्राथमिक शाला जोगीपाली (भुकेल) में मां शाकंभरी रक्तदाता सेवा समिति के संस्थापक एवं संचालक गणेश राम पटेल द्वारा बच्चों को कॉपी पेन देकर पढ़ने लिखने के लिए प्रोत्साहित किया गया। इस दौरान शाला के प्रधान पाठक श्री खुदीराम पटेल एवं हेमनाथ पटेल जी उपस्थित रहे। गणेश राम पटेल जी ने गवर्नमेंट स्कूल में पढ़ रहे बच्चों के पालक से अपील करते हुए कहा कि गवर्नमेंट स्कूलों में भी अच्छे से पढ़ाई किया जा सकता है अगर बच्चों के माता-पिता स्कूलों पर अच्छे से ध्यान दें और स्कूलों में जाकर वहां पर आने वाले सभी शिक्षक को नियमित स्कूल आकर बच्चों को अच्छी शिक्षा एवं बच्चे जिस प्रकार से सीखना चाहते हैं उसी प्रकार से उन्हें शिक्षा दिया जाए जिसके लिए कुछ सामग्री की भी आवश्यकता होती है जो गवर्नमेंट स्कूल की टीचरों को उपलब्ध नहीं कराता अगर पालक ध्यान दें तो इन सभी जरूरतों को छोटे-छोटे राशि देकर स्कूल की जरूरतों को पूरा कर प्राइवेट स्कूल से भी अच्छी एजुकेशन गवर्नमेंट स्कूल में दिया जा सकता है जहां पालक लोग अपने बच्चों के अच्छे जुकेशन के लिए प्राइवेट स्कूलों में 15000 से लेकर 25 से 30,000 तक सालाना फिश पटा रहे हैं अगर वही गवर्नमेंट स्कूल के पालक भी अपने बच्चों के लिए साल भर में महज हजार रुपया भी अगर  स्कूल को डोनेशन करें है तो उस स्कूल में बहुत कुछ परिवर्तन लाया जा सकता है ताकि बच्चों को अच्छी शिक्षा देने में आसानी हो और यह राशि पालक अपना समूह बनाकर रख सकते हैं और स्कूल की जरूरतों को देखते हुए राशि का उचित उपयोग कर अच्छी शिक्षा गवर्नमेंट स्कूलों में भी दिया जा सकता है। बच्चों को एजुकेशनल गेम के माध्यम से अच्छे से अच्छा सिखा दिया जा सकता है जिसके लिए कुछ राशि की आवश्यकता होती है और गवर्नमेंट कई बार इन चीजों के लिए राशि देता भी है या कई बार लेट में यह राशि प्राप्त होता है जिससे बच्चों को सही समय पर सही शिक्षा ना मिलने के कारण आगे जाकर के इन बच्चों को परेशानी का सामना करना पड़ता है अगर सभी पालक गवर्नमेंट स्कूलों पर ध्यान दें तो गवर्नमेंट स्कूलों को भी बेहतर किया जा सकता है। ऐसे कुछ गांव हैं जहां ग्रामीणों द्वारा अच्छे से ध्यान दिया गया है उन स्कूल को डिजिटल किया जा चुका है जिसमें गवर्नमेंट का कोई सहयोग नहीं है ग्रामीण अपने स्तर पर प्रयास किया और स्कूलों में अच्छे से अच्छा सुविधा कर बच्चों को अच्छी शिक्षा दिया जा रहा है।

Kailash Nayak

(डिप्लोमा इन जर्नलिज्म एंड मॉस कम्यूनिकेशन)

Leave a Reply

Your email address will not be published.